आरआरबी सहायक लोको पायलट परीक्षा की तैयारी कैसे करें।

आरआरबी सहायक लोको पायलट की तैयारी के लिये रणनीति


http://shikshaportal.com/exams/images/Indian-Railways-Loco-Pilot.jpg

जो उम्मीदवार रेलवे भर्ती बोर्ड के सहायक लोको पायलट की अर्हता और दिशानिर्देश से संबंधी जानकारी की तलाश में हैं, वो सभी इस लेख के माध्यम से परीक्षा की तैयारी की जानकारी प्राप्त करेंगे। सभी उम्मीदवारों को यह सलाह दी जाती है कि वे लेख को ध्यानपूर्वक पढ़ें और इसमें दी गई जानकारी को समझ कर अध्ययन करने की कोशिश करें, तो निश्चित रूप से आप सफलता प्राप्त करेंगे।

रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी), भारत के सबसे बड़े नियोक्ताओं में से एक है जो सहायक लोको पायलट (एएलपी), तकनीशियन श्रेणियों और कई अन्य पदों के लिए भी बड़े पैमाने पर हर साल भर्ती परीक्षा का आयोजन करता है। सहायक लोको पायलट (एएलपी) और तकनीशियन श्रेणी की लिखित परीक्षा होगी एक ही साथ आयोजित की जाएगी। यह परीक्षा पत्र अंग्रेजी, हिंदी और उर्दू में तीन भाषाओं में होता है, जिससे आप अपनी खुद की पसंद की भाषा के प्रश्नपत्र का चयन कर सकते हैं।

सहायक लोको पायलट के पद की तैयारी के लिये उम्मीदवारों को नीचे दिये गये सुझावों व निर्देशों का पालन करना चाहिये।

सहायक लोको पायलट के लिए तैयारी के लिये आवश्यक युक्तियाँ


अध्ययन सामग्री और पाठ्यक्रम की जानकारी

किसी भी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी के लिए आपको उस परीक्षा के पाठ्यक्रम का को समझकर अध्ययन सामग्री का चयन करना होगा, जिसमें पुस्तकें व अध्ययन के स्रोत भी हों। आपको सभी विषयों के बारें में पता होना चाहिए और पाठ्यक्रम में शामिल उस विषयवस्तु के लिये बाजार में उपलब्ध अच्छी किताबों के माध्यम से तैयार करनी चाहिये।

आपको निम्नलिखित पाठ्यक्रम को ध्यान में रखने की आवश्यकता है:-

गणित (Mathematics): संख्या प्रणाली, बोडमास, दशमलव, अंश, एलसीएम, एचसीएफ, अनुपात और अनुपात, प्रतिशत, मानकीकरण, समय और कार्य; समय और दूरी, सरल और मिश्रित ब्याज, लाभ और हानि, बीजगणित, ज्यामिति और त्रिकोणमिति, प्राथमिक सांख्यिकी, स्क्वायर रूट, आयु की गणना, कैलेंडर और घड़ी, पाइप्स और कूटर आदि।

जनरल इंटेलीजेंस और रिज़निंग (General Intelligence & Reasoning) : एनालोजीज़, वर्णानुक्रमिक और संख्या श्रृंखला, कोडिंग और डिकोडिंग, गणितीय संचालन, रिश्ते, सिलेगिजम, जुंबलिंग, वेन आरेख, डाटा इंटरप्रिटेशन और दक्षता, निष्कर्ष और निर्णय लेने, समानताएं और अंतर, विश्लेषणात्मक तर्क, वर्गीकरण, निर्देश, वक्तव्य - तर्क और आकलन आदि।

जनरल साइंस (General Science): इस पाठ्यक्रम में 10 वीं कक्षा के स्तर के भौतिकी, रसायन विज्ञान और लाइफ साइंसेस शामिल होंगे।

सामान्य जागरूकता (General Awareness / Current Affairs): विज्ञान और प्रौद्योगिकी, खेल, संस्कृति, व्यक्तित्व, अर्थशास्त्र, राजनीति और महत्व के अन्य विषयों के वर्तमान मामलों की जानकारी।


समय का प्रबंधन कैसे करें?

समय प्रबंधन किसी भी परीक्षा या कार्य में सफलता प्राप्त करने की कुंजी है। यदि कोई उम्मीदवार सफलतापूर्वक समय का प्रबंधन कर सकता है, तो उसे सफलता पाने से कोई नही रोक नहीं सकता है। इसलिए, तैयारी और उनके पाठ्यक्रम के अनुसार हर किसी को अपने समय का प्रबंधन करना होगा जिसमें आपको प्रत्येक विषय के लिए उचित व निर्धारित समय देना चाहिये। यह भी ध्यान रहे कि समय प्रबंधन की मदद से आप परीक्षा में अधिक से अधिक प्रश्नों को हल कर सकेंगे जो कि इस कठिन प्रतियोगिता के लिये अत्यंत महत्वपूर्ण है।

पढ़ाई पर फोकस कैसे करें?

अभ्यर्थियों को यह सलाह दी जाती है कि वे पूरे तैयारी में विषयों की अवधारणाओं को समझने पर ध्यान दें। यह आपको समय की एक लंबी अवधि के लिए अवधारणाओं को याद करने में मदद करेगा। अवधारणाओं की स्पष्ट समझ के साथ, उम्मीदवार आसानी से उन अवधारणाओं से संबंधित प्रश्नों को आसानी से संभाल सकते हैं। आप जो पढ़ रहे हैं उससे जुड़ें। यदि पढ़ते समय परेशानी आती है तो उस शब्दों की रूपरेखा और विशेषज्ञों के साथ चर्चा करें।

अधययन के लिए समय सारणी बनाएं: योजनाएं एक उचित या बहुत अनुक्रम तरीके से कार्य निष्पादित करती हैं। अध्ययन शुरू करने से पहले आप सीख सकते हैं कि समय का प्रबंधन कैसे करें और आपको अपने दिमाग में लक्ष्य रखना चाहिए। विभिन्न विषयों के बीच अपना समय विभाजित करें और गणित आदि जैसे कठिन विषयों में अधिक समय दें। यदि संभव हो तो कठिन अध्ययन के साथ पहले अपना अध्ययन शुरू करें।

माडल एवं पिछ्ले टॆस्ट सीरीज व पेपर्स से अभ्यास।

इस प्रकार प्रश्नपत्रों से अभयास करने से आप परीक्षा के पैटर्न को आसानी से समझ पायेंगे और आप विभिन्न प्रकार के सवालों और उन्हें सुलझाने की विधि सीख पाते हैं। यह आपको गति और सटीकता प्राप्त करने में भी सहायता करता है। इस तरह के परीक्षण करने के लिए अभ्यर्थी आनलाईन या किसी भी संस्थान से टेस्ट सीरीज इत्यादि का उपयोग कर सकते हैं।

उम्मीदवारों को पिछले साल के प्रश्नों को हल करने की सलाह दी जाती है क्योंकि ऐसा करने से आप परीक्षा में पूछे गए सवालों के स्तर को जान सकते हैं और कभी-कभी दोहराए गए प्रश्नों के बारे में भी पता चलता है और इससे उन्हें हल करने का समय कम हो जाता है। इस प्रकार के प्रश्नपत्र इंटरनेट पर आसानी से उपलब्ध हो जाते हैं या आप इन्हें बाजार से भी खरीद सकते हैं।

आरआरबी सहायक लोको पायलट की तैयारी के लिये प्रैक्टिस वर्क बुक।


20 Practic Papers for RRB ALP & Technician CBT Exam

(यह पुस्तक 03.02.2018 के पाठ्यक्रम पर अधारित है और इसमें संख्यात्मक अभियोग्यता, सामान्य बौद्धिक एवं तार्किक क्षमता, सामान्य विज्ञान और सामान्य जानकारी इत्यादि पर आधारित 20 प्रैक्टिस सेट्स हैं।)

Post Type: 

SHIKSHAPORTAL.COM

↑ Grab this Headline Animator