पीएसयू परीक्षाओं (PSUs) की तैयारी कैसे करें?

पीएसयू परीक्षाओं के लिए तैयारी गाइड


पीएसयू प्रवेश परीक्षा प्रश्न पत्र में मुख्य रूप से दो भाग होते हैं:

१. तकनीकी अनुभाग: संबंधित स्ट्रीम के अनुरूप विषय में विशेषज्ञता।
२. गैर तकनीकी अनुभाग: सामान्य जागरूकता, वर्तमान मामलों की समझ, अंग्रेजी भाषा, तार्किक योग्यता।

इस प्रतिस्पर्धी परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के लिए एक पीएसयू उम्मीदवार को तकनीकी और गैर-तकनीकी दोनों वर्गों के लिए तैयार रहना चाहिए, जहां 50% से 70% प्रश्न तकनीकी भाग और बाकी गैर-तकनीकी वर्गों से होते हैं।

  • अलग-अलग पीएसयू के परीक्षा पैटर्न जैसे तकनीकी प्रश्नों की संख्या, गैर-तकनीकी प्रश्नों की संख्या, नकारात्मक अंकन, परीक्षा अवधि, प्रति प्रश्न अंक आदि विषयवस्तुओं से अवगत रहें।
  • पिछले साल के प्रश्न पत्रों का अभ्यास करना तथा पाठ्यक्रम के अनुसार परीक्षा और उसके कठिनाई के स्तर को समझने का प्रयास करें तो आप किसी भी प्रतिस्पर्धी परीक्षा में सफल हो सकते हैं।
  • संख्यात्मक प्रश्नों हल करते समय समय बचाने के लिए पारंपरिक तरीकों के बजाय शॉर्टकट तकनीकों का उपयोग करें। पिछले साल प्रश्न पत्रों का जैम कर अभ्यास करें तथा कमजोर विषयों का विश्लेषण करें और उन विषयों पर अधिक ध्यान केंद्रित करें।
  • पूर्वनिर्धारित समय सीमा में प्रश्न पत्रों को हल करने का प्रयास करें ताकि आप यह निर्धारित कर सकें कि दिए गए सीमाओं में आप कितने प्रश्न हल कर सकेंगे।

ग्रुप डिस्कशन राउंड शॉर्टलिस्टेड उम्मीदवारों के लिए एक महत्वपूर्ण दौर है। इसके लिए एक अच्छा संचार (कम्यूनिकेशन स्किल) कौशल, संबंधित विषय का ज्ञान, टीम वर्क, नेतृत्व लेने की क्षमता, धैर्य स्तर इत्यादि प्रमुख मानदंड है।

उम्मीदवार का व्यक्तित्व परीक्षण करने के लिए साक्षात्कार आयोजित किया जाता है। उपयुक्त तकनीकी ज्ञान, सकारात्मक दृष्टिकोण व शारीरिक भाषा, अच्छे संचार कौशल जैसे गुण व्यक्तिगत साक्षात्कार में सफलता पाने के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। अभ्यर्थियों को उनकी ताकत और कमजोरियों के बारे में प्रश्नों के साथ तैयार रखना चाहिए और सभी सवालों का आत्मविश्वास से जवाब देना चाहिए।

आशा है की इस लेख के माध्यम से आप सभी उम्मीदवारों को पी०एस०यू० परीक्षा की तैयारी करने और उसके पैटर्न को समझने में मदद मिलेगी।


Post Type: 

SHIKSHAPORTAL.COM

↑ Grab this Headline Animator