स्नातक के छात्र सिविल सर्विसेज परीक्षा की तैयारी कब और कैसे करें?

स्नातक के छात्र सिविल सर्विसेज परीक्षा की तैयारी कैसे करें?


सिविल सेवा परीक्षा (सीo एसo ईo) को सभी लिखित परीक्षाओं की मां माना जाता है इसका विशालकाय पाठ्यक्रम और उसकी विविधतायें इसे एक विशेष परीक्षा का दर्ज़ा देती हैं। इस परीक्षा के लिए तैयारी शुरू करने से पहले एक उम्मीदवार को यह समझना चाहिये कि उसे सर्वप्रथम मुख्य परीक्षा (Main Exam) के लिए तैयारी शुरू करनी है और उसके बाद फिर प्रारंभिक (Preliminary Exam) के लिए। और यह इसलिए है क्योंकि, यदि कोई उम्मीदवार प्रारंभिक परीक्षा देने के बाद मुख्य परीक्षा के लिए अपनी तैयारी शुरू करता है, तो उसके पास वैकल्पिक विषय, निबंध और सामान्य अध्ययन को तैयार करने के लिए मात्र चार महीने (जून से अक्टूबर) ही बचेंगे, और इतने समय में इस लक्ष्य को प्राप्त करना लगभग असंभव है।

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि वैकल्पिक विषय स्नातकोत्तर स्तर का होता है और आमतौर पर यह पूरी तरह से एक नया विषय होगा। इसके लिये हमें अपनी तैयारी को भागों या सत्रों में विभाजित करना चाहिये।


चरण 1

प्रारंभिक परीक्षा (Prelims Exam) में भाग लेने का इरादा कम से कम एक साल पहले करना चाहिये। जून के दूसरे सप्ताह (पिछले वर्ष) से ​​अक्टूबर (पिछले वर्ष), अर्थात 4 महीने, वैकल्पिक विषय (Optional Papers) और सीसैट (CSAT) तैयार करें।

चरण 2

  • जून के पहले सप्ताह (पिछले वर्ष) से ​​अप्रैल तक (परीक्षा वर्ष), जीएस (सामान्य अध्ययन) की तैयारी प्रारंभिक और मुख्य परीक्षाओं दोनों के लिये करें। यदि समय प्रबंधन सही हो तो आप अपने वैकल्पिक विषय का भी अध्ययन कर सकते हैं।

चरण 3

  • फरवरी (परीक्षा वर्ष) से ​​मई (परीक्षा वर्ष) में प्रारंभिक परीक्षा के लिए जीएस और सीसैट (Civil Services Aptitude Test) का रिवीजन (Revision) करें।

चरण 4

  • जून से आखिरी सप्ताह से, अक्टूबर को संशोधित करें वैकल्पिक विषय, जीएस और मुख्य परीक्षा के लिए निबंध के लिए तैयार। अनिवार्य अंग्रेजी और भारतीय भाषा के लिये किसी भी औपचारिक तैयारी की आवश्यकता नहीं है। जीएस (General Studies) और वैकल्पिक विषय के लिए एक टेस्ट सीरीज (Test Series) इत्यादि से अभ्यास करें।

कृपया ध्यान दें: उपरोक्त सुझाव उन बहुसंख्यक उम्मीदवारों पर लागू होते हैं जो रोजगार के बिना, इस परीक्षा के लिए पूर्ण समय (Full Time) तैयारी कर रहे हैं। अन्य उम्मीदवारों के लिए, तैयारी करने का प्रारूप व रणनीति समय के अनुसार भिन्न हो सकती है।


Post Type: